मुख पृष्ठ » ग्राहक सेवाएं » पॉलिसीधारकों के लिए दिशानिर्देश
पॉलिसीधारकों के लिए दिशानिर्देश

पॉलिसीधारकों के लिए दिशानिर्देश

हम आपका अपने पॉलिसीधारक के रूप में और अपने ग्राहक सेवा विभाग में एक संभावित ग्राहक के रूप में स्वागत करते हैं. यह विभाग आपके जीवन बीमा अनुबंध की विभिन्न जटिलताओं और तथ्यों के संदर्भ में आपका मार्गदर्शन करेगा, जो जानना आपके लिए अपनी जीवन बीमा पॉलिसी का अधिकाधिक लाभ लेने के लिए आवश्यक है। कृपया हमारे दिशानिर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

आपका पॉलिसी बांड और इसकी सुरक्षा
आपका पॉलिसी क्रमांक
पॉलिसी शर्तें
पॉलिसी में कोई संशोधन
यदि आपकी पॉलिसी खो गई है
आपका संपर्क पता, हमेशा हमसे संपर्क बनाये रखें?
आयु स्वीकृति
नामांकन
समानुदेशन
प्रीमियम कब भरना है
प्रीमियम भुगतान के लिए छूट की अवधि
प्रीमियम कहां और कैसे भरें
पॉलिसी की स्थिति, कहां उपलब्ध है
कालातीत पॉलिसियों का पुन:प्रवर्तन
अभ्यर्पण मूल्य
परिपक्वता, विघमानता हितलाभ, विकलांगता एंव मृत्यु दावे
वेतन बचत योजना के अंतर्गत पॉलिसी
सहायता
 

आपका पॉलिसी बांड और उसकी सुरक्षा

पॉलिसी बांड वह दस्तावेज है जो बीमे के लिए आपका प्रस्ताव स्वीकार करने के बाद हम आपको देते हैं। जोखिम लाभ आपका प्रस्ताव स्वीकार करने के बाद आरंभ हो जाता है और आपकी पॉलिसी की शर्तें व विशेषाधिकारों का जिक्र पॉलिसी बांड में होता है। यह एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जिसका उल्लेख आपको दी जाने वाली सेवा के विभिन्न चरणों में किया जाएगा।

अपना पॉलिसी बांड सुरक्षित रखें. इसकी आवश्यकता पॉलिसी पर दावों के निपटारे के समय प ड़ेगी। आपको इसकी आवश्यकता तब भी पड़ेगी जब आप पॉलिसी पर ऋण लेना चाहेंगे या पॉलिसी का समानुदेशन करना चाहेंगे। अपने जीवनसाथी/अभिभावकों/बों को बताएं कि पॉलिसी कहां रखी गई है। यदि आपने पॉलिसी बांड किसी व्यक्ति या कार्यालय को दिया है तो उनसे लिखित स्वीकृति ले लें। अपने संदर्भ के लिए पॉलिसी की छायाप्रति रखें। ;

आपका पॉलिसी क्रमांक

पॉलिसी क्रमांक नौ अंकीय होता है और आपके पॉलिसी बांड की अनुसूची के ऊपर वाले बाएं कोने पर पाया जा सकता है।

यह एक अनोखी पहचान संख्या है जो आपकी पॉलिसी को दूसरों की पॉलिसी से अलग करती है और पॉलिसी की समाप्ति तक बदलती नहीं है।

किसी भी पत्राचार में अपना पॉलिसी क्रमांक लिखना न भूलें क्योंकि इससे हमें आपके रिकार्ड ढूंढने में मदद मिलती है।

पॉलिसी शर्तें

हर पॉलिसी अलग अलग आवश्यक्ताओं के अंतर्गत ली जाती है। इसलिए आपकी पॉलिसी के लिए शर्तें, प्लॉन व पॉलिसी की अवधि के अनुरूप अलग अलग होंगी।
पॉलिसी अनुसूची आपकी पॉलिसी के प्रथम पृष्ठ पर होती है। उसमें उक्त जानकारी के अलावा नामित व्यक्ति, आपका पता आदि समेत अन्य जानकारियां दी जाती हैं। इस पर आपकी पॉलिसी आरंभ होने की तिथि, जन्म तिथि, परिपक्वता तिथि, प्रीमियम भुगतान की अंतिम तिथियां व महीने आदि भी दर्शाये होते हैं।
दूसरे पृष्ठ से पॉलिसी की विभिन्न शर्तों जैसे जोखिम सुरक्षा, अतिरिक्त जोखिम सुरक्षा (यदि चुनी गई है तो), सभी पॉलिसियों के लिए उपलब्ध मानक हितलाभ, दुर्घटना हितलाभ (यदि चाहा गया है तो), किन परिस्पितियों में हितलाभ देय नहीं हैं. और बीमा अनुबंध की अन्य शतोर्ं का विवरण दिया हुआ है।
मृत्यु लाभ के अलावा अन्य मानक हितलाभ होते हैं और कुछ लाभ पॉलिसीधारक ने चयनित किये होते हैं. जिनके बारे में आप जानना चाहेंगे (विभिन्न तरह की पॉलिसी शर्तों और उनके निहितार्थ जानने के लिए यहां क्लिक करें)

पॉलिसी में संशोधन

जब आप अपनी पॉलिसी में संशोधन करना चाहते हैं जैसे प्रीमियम भुगतान की विधि, प्रीमियम भुगतान अवधि में कमी आदि। तो आप को अपनी पॉलिसी से संबद्ध शाखा को आग्रम कार्रवाई हेतु लिखित आवेदन देना होगा।
हमारी जीवन बीमा पॉलिसियों में कई अलग अलग तरह के संशोधन हैं जिनकी अनुमति दी जाती है. (इन संशोधनों के बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें )

अगर आपकी पॉलिसी खो गई है तो

आपकी पॉलिसी खो गई है, इस निष्कर्ष तक पहुंचने से पहले कृपया जहां तक संभव हो तलाश करें। अपने घर, अपने निवेश कागजात, अपने कार्यालय में देखने के बाद और अपने एजेंट तक से पूछ लें जिन्हें कि आपने किसी कारण से दस्तावेज दिया हो सकता है।
आपकी पॉलिसी खो गई है, इस निष्कर्ष तक पहुंचने से पहले कृपया जहां तक संभव हो तलाश करें। अपने घर, अपने निवेश कागजात, अपने कार्यालय में देखने के बाद और अपने एजेंट तक से पूछ लें जिन्हें कि आपने किसी कारण से दस्तावेज दिया हो सकता है।
यह दस्तावेज जीवन बीमा निगम/ अन्य किसी वित्तीय संस्थान को भी आपने ऋण लेने के लिए दिया हो सकता है। जब आप पॉलिसी पर ऋण लेते हैं तो एलआइसी आपका पॉलिसी बांड रख लेता है। यह सुनिश्चित करें कि जिस दस्तावेज की आपको तलाश है, वह पहले ही एलआइसी को या अन्य किसी वित्तीय संस्थान को समनुदेशित नहीं किया गया है।
अगर पॉलिसी बांड आग, बा ढ़ आदि जैसे प्राकृतिक कारणों से आंशिक रूप से नष्ट हुआ है तो बाकी हिस्सा पॉलिसी के खोने के प्रमाण के रूप में एलआइसी को पॉलिसी की अनुलिपि के लिए आवेदन के समय सौंपा जा सकता है। यदि आपको यकीन है कि पॉलिसी बांड अज्ञात कारणों से ढूंढा नहीं जा सकता है तो पॉलिसी की अनुलिपि के लिए अपनी शाखा में आवेदन हेतु आपको एक सरल प्रक्रिया अपनानी होगी। (पॉलिसी की अनुलिपि पाने के लिए अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें )

आपका संपर्क पता, हमेशा हमसे संपर्क बनाये रखें

आपका पता हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है. आपके नये पते के बिना हम आपको कोई भी सेवा प्रदान करने के लिए संपर्क की स्थिति में नहीं होंगे। हम नहीं चाहेंगे कि इस महत्वपूर्ण जानकारी के अभाव में आपको किसी भी लाभ से वंचित रखा जाए। जब भी आप आवास बदलें, कृपया हमें नये पते के बारे में बताएं। अन्यथा हम आपको जो भी सूचना भेजेंगे, जैसे प्रीमियम नोटिस, परिपक्वता के लिए भुनाए जाने वाले वाऊचर और विघमानता हितलाभ आदि, आप तक देरी से पहुंचेंगे।

एल.आइ.सी. पते में परिवर्तन, टेलीफोन, मोबाइल नंबरों और ईमेल पतों को आपके संपर्क पते की जानकारी में समाहित करता है। कृपया अपनी शाखा को उक्त सभी जानकारियां आपके पॉलिसीरिकार्ड में शामिल करने को कहें।

आयु स्वीकृति

अपने पॉलिसी बांड की जांच करें और देखें कि जो जन्मतिथि दी गई है, क्या वह सही है। यह उन कारकों में से एक है जिनके आधार पर आपकी पॉलिसी पर आपका प्रीमियम निर्धारित होता है। यही उन सभी पॉलिसियों का आधार भी बनता है, जो भविष्य में आप हमसे लेते हैं।
अगर आपकी पिछली पॉलिसियों में आपकी जन्मतिथि नहीं है और आपके पास किसी सक्षम अधिकारी की तरफ से जारी किया गया जन्म प्रमाणपत्र है, आप उसकी साक्ष्यांकित प्रति हमें भेज सकते हैं और अनुरोध कर सकते हैं कि आपकी आयु को हम स्वीकार करें (आयु स्वीकृति हेतु कौन से प्रमाणपत्र एलआइसी स्वीकार करती है यह जानने के लिए यहां क्लिक करें )

नामांकन

सुनिश्चित करें कि नामित व्यक्तियों के नाम पॉलिसी बांड में सही तरीके से शामिल किये गये हैं।

पॉलिसी की समाप्त्रि तक किसी भी समय आप अपनी पॉलिसी में नामांकन में परिवर्तन कर सकते हैं।

यदि आपने अब तक नामित व्यक्ति का नाम पॉलिसी में सम्मिलित नहीं किया है तो कृपया देर न करें। अपने नामित व्यक्ति के बारे में हमें तुरंत बताएं। कृपया जान लें कि नामांकन में परिवर्तन आप उसी शाखा में कर सकते हैं जो आपकी पॉलिसी संचालित करती हैं।

नामित व्यक्ति वह है जिसे, पॉलिसी की शर्तों के दायरे में आपके साथ कोई दुर्भाग्यपूर्ण घटना होने की स्थिति में बीमा दावे की रकम का भुगतान किया जाएगा।

सामान्यत पॉलिसी अपने परिवार के लाभ के लिए लेते हैं। इसलिए ऐसे व्यक्ति को नामित करें जो आपकी अनुपस्थिति में आपके परिवार का हित साध सके।

साधारणतः सभी जीवनसाथी या बों को नामांकित करते हैं।

आप किसी नाबालिग जैसे अपने बों को भी नामित कर सकते हैं लेकिन ऐसी स्थिति में आपको किसी दूसरे व्यक्ति का नाम भी देना होगा जो उस नाबालिग के हितैषी के रूप में नियुक्त होगा (नामांकन के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें )

समानुदेशन

अगर आप अपनी पॉलिसी की एवज में एलआइसी या अन्य किसी वित्तीय संस्थान से ऋण ले रहे हैं तो आपकी पॉलिसी एलआइसी या वित्तीय संस्थान को समनुदेशित करनी होगी।
जब आप अपनी पॉलिसी समनुदेशित करेंगे तो पॉलिसी का शीर्षक आपके नाम के ब जाय संस्थान के नाम हो जाएगा.

ऋण चुकाने के बाद आपकी पॉलिसी फिर आपके नाम हो जाएगी. पॉलिसी की पुनःसमनुदेशन होने के बाद आपको फिर से नामांकन करना होगा। आपने ऋण नहीं लिया लेकिन विशेष उद्देश्य से फिर भी पॉलिसियों का समनुदेशन किया जा सकता है (समनुदेशन के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें)

प्रीमियम कब भरें

डाक में देरी के कारण हमारे नोटिस नहीं भी पहुंचें तो प्रीमियम का भुगतान समय पर करें। एल.आइ.सी. सामान्यत प्रीमियम का नोटिस बकाया प्रीमियम माह से एक महीने पहले भेज देती है। वह महीने जिनमें प्रीमियम भरा जाना है पॉलिसी बांड के प्रथम पृष्ठ पर दर्शाये जाते हैं।

प्रीमियम भुगतान के लिए छूट की अवधि

अगर आपने प्रीमियम निर्धारित तिथि तक नहीं भरा तब भी आपको बिना ब्याज के प्रीमियम भरने के लिए कुछ समय मिलता है इस अवधि को ग्रेस पीरियड यानी छूट की अवधि कहते हैं (इसमें कुछ प्लान शामिल नहीं हैं)।

उन पॉलिसियों के लिए छूट की अवधि निर्धारित तिथि से पंद्रह दिन है जहां प्रीमियम का भुगतान मासिक है। तिमाही, छमाही या वार्षिक प्रीमियम भुगतान वाली पॉलिसियों के लिए यह अवधि एक महीना लेकिन ३० दिन से कम नहीं है।

प्रीमियम का भुगतान कहां और कैसे करें

  • »शाखा कार्यालय में नकदी, स्थानीय चेक यानी धनादेश (चेक के भुगतान मिलने पर), डिमांड ड्राफ्‌ट के जरिये।
  • »डीडी, चेक या मनी आर्डर डाक के जरिये भेजे जा सकते हैं।
  • »आप अपना प्रीमियम हमारी किसी भी शाखा में भर सकते हैं क्योंकि हमारी ९९ प्रतिशत शाखाएं नेट द्वारा जु ड़ी हुई हैं।
  • »कई बैंक प्रीमियम की रकम आपके खाते में काटने के निर्देश स्वीकार करते हैं । इस तरह आप अपने बैंक को निर्देश दे सकते हैं कि वह आपके खाते से प्रीमियम की रकम काटे और बैंकर चेक के माध्यम से एल.आई.सी. को पॉलिसी बांड में उल्लिखित निर्धारित तिथि तथा महीनों में दे दें।
  • »इंटरनेट के .जरिये प्रीमियम का भुगतान इंटरनेट से सेवाप्रदाताओं जैसे एच.डी.एफ.सी. बैंक, आई.सी.आई.सी.आई. बैंक, टाइम्स ऑफ मनी, बिल जंक्शन, यूटीआई बैंक, बैंक ऑफ पंजाब, सिटी बैंक, कार्पोरेशन बैंक, फेडरल बैंक और बिल डेस्क के .जरिये किया जा सकता है।
  • »प्रीमियम का भुगतान कार्पोरेशन बैंक और यूटीआई बैंक के एटीएम के .जरिये भी किया जा सकता है।
  • »प्रीमियम का भुगतान इलेक्ट्रानिक क्लियरिंग सर्विस के .जरिये भी किया जा सकता है। यह सेवा मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता, नई दिल्ली, कानपुर, बेंगलूर, विजयवा ड़ा, पटना, जयपुर, चंडीगढ़, त्रिवेंद्रम, अहमदाबाद, पुणे, गोवा, नागपुर, सिकंदराबाद, विशाखापट्टनम में प्रारंभ की जा चुकी है। एक पॉलिसीधारक, जिसका किसी भी ऐसे बैंक में खाता हो जो स्थानीय क्लियरिंग हाऊस का सदस्य हो, अपनी इच्छानुसार ईसीएस के जरिये प्रीमियम का भुगतान कर सकता है। इस सुविधा का लाभ लेने के इच्छुक पॉलिसीधारकों को हमारी शाखाओं और विभागीय कार्यालयों में मौजूद एक फार्म भरना होगा। और उसे बैंक से प्रमाणित करवाना होगा। ऐसे प्रमाणित फार्म हमारे शाखा/मंडल कार्यालय में जमा कराने होंगे।
  • »पॉलिसी भारत में चाहे कहीं भी ली गई हो, मुंबई में चर्चगेट स्थित इंडस्ट्रियल एश्योरेंस बिल्डिंग, सांताक्रूज स्थित न्यू इंडिया बिल्डिंग, बोरिवली स्थित जीवन शिखा बिल्डिंग में मौजूद सिटी बैंक कियोस्क में प्रीमियम के चेक स्वीकार किए जाते हैं।

पॉलिसी की स्थिति - कहां उपलब्ध है

पॉलिसी की स्थिति दर्शाती है कि आपकी पॉलिसी चालू है या प्रीमियम का भुगतान न करने के कारण बंद हो चुकी है। इससे आपको अपनी पॉलिसी के संबंध में और भी महत्वपूर्ण जानकारी मिलती है।

पॉलिसी की स्थिति के बारे में जानकारी उस शाखा में उपलब्ध होती ही है जहां से आपकी पॉलिसी संचालित होती है। यह सुविधा अब कुछ चुनिंदा शहरों में हमारी ध्वनि उत्तर प्रणाली यानी वॉयस रेस्पांस सिस्टम के .जरिये भी उपलब्ध है। (आपके शहर में यह सुविधा मौजूद है या नहीं, जानने के लिए यहां क्लिक करें)

कंप्यूटरीकृत नेटवर्क से जु ड़े शहरों में यह जानकारी हर शाखा में उपलब्ध है। अब उक्त शहरों में यह जानकारी इंटरनेट पर भी उपलब्ध है। (इन सेवाओं के लिए पंजीकरण हेतु यहां क्लिक करें) कुछ चुनिंदा शहरों में पॉलिसी की स्थिति की जानकारी देने के लिए ऑनलाइन टच स्क्रीन कियोस्क भी लगाये गये हैं।

बंद पॉलिसियों का पुनप्रवर्तन

अगर आपकी पॉलिसी समय पर प्रीमियम न भरने के कारण बंद हो चुकी है तो जब तक आप पॉलिसी फिर से शुरू नहीं कराते, पॉलिसी अनुबंध के नियम व शर्तें अपने आप समाप्त हो जाते हैं। बंद पॉलिसी के पुनःप्रवर्तन के लिए आपको ब.काया प्रीमियम के ब्याज सहित भुगतान के अलावा स्वास्थ्य संबंधी आवश्यक औपचारिकताएं भी पूरी करनी होंगी। (पुनप्रवर्तन प्रक्रिया के बारे में और जानकारी तथा विभिन्न प्रकार के पुनःप्रवर्तन के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें)

आपकी पॉलिसी के अनुरूप वित्तीय सुरक्षा का लाभ आपके परिजनों को मिले, यह सुनिश्चित करने के लिए हमेशा अपनी पॉलिसी चालू स्थिति में रखें।

हालांकि कुछ योजनाओं को छो ड़कर अन्य योजनाओं में कुछ दावा रियायतें मिलती हैं जो इस पर निर्भर करता है कि आपने कितने समय तक प्रीमियम भरा है। (देरी से भरे गये प्रीमियम के लिए छूट तथा बंद अवधि के दौरान दावों के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें)

पुनप्रवर्तन फार्म डाऊनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें)

पॉलिसियों पर ऋण की सुविधा

हमारी कई योजनाएं बन्दोबस्ती प्रकार की हैं और आप आवश्‌यक्ता प ड़ने पर अपनी पॉलिसी पर ऋण ले सकते हैं।

आपको ब्याज समेत ऋण लौटाने के अलावा यह विकल्प भी दिया जाता है कि आप ब्याज का भुगतान करें व ऋण की रकम दावा भुगतान के समय काटने को कहें।

इसके अलावा पॉलिसियों पर पूर्व के बकाया ऋण चुकाकर और ऋण लेने की भी सुविधा है (पॉलिसियों पर ऋण के बारे में और जानकारी के लिए यहां क्लिक करें)

अधिकतर वित्तीय संस्थान भी अनुरोध करने पर एल.आई.सी. पॉलिसियों पर एल.आई.सी. के मूल्यांकन के आधार पर ऋण देते हैं।

अभ्-यर्पण मूल्य

यह वो राशि है जो आपको लौटाई जाती है यदि आप पॉलिसी को जारी न रखने का .फैसला करते हैं।

अभ्-यर्पण राशि का भुगतान तभी होता है यदि आपने कम से कम तीन पूरे वर्ष का प्रीमियम एल.आई.सी. को अदा किया हो। यदि आपकी पॉलिसी लाभसहित है तो नियमानुसार बोनस भी <दिया जाता है। पॉलिसी के अभ्-यर्पण की सलाह नहीं दी जाती है क्योंकि अभ्-यर्पण राशि तुलनात्मक ढंग से कम ही होती है क्योंकि ऐसे में यदि आप दूसरी पॉलिसी लेना चाहें तो उसका प्रीमियम अधिक होगा क्योंकि पुरानी पॉलिसी के मुकाबले आपकी आयु ब ढ़ चुकी होगी।

इसलिए पुरानी पॉलिसियां चालू रखना और सभी पॉलिसियां जारी रखना ही अबाधित जीवन बीमा सुरक्षा पाने की बेहतरीन रणनीति है।

परिपक्वता, विघमानता हितलाभ, अपंगता एवं मृत्यु दावे

आपके जीवन में मिलने वाले लाभ (धनवापसी पॉलिसियों के लिए) या परिपक्वता लाभ की सूचना हम आपको समय से पहले देते हैं। हालांकि विघमानता हितलाभ यदि ६०,०००/- रु. या उससे कम है तो कुछ अपवादों को छो ड़कर बिना किसी कागजी कार्रवाई की औपचारिकता के हम इसे आपको सीधे भेज देते हैं।

वेतन बचत योजना के अंतर्गत पॉलिसियां

अगर आपने अपनी पॉलिसी वेतन बचत योजना के अंतर्गत ली है तो कृपया निम्नलिखित सुझाव पढ़ें

  1.  हर वेतन बचत योजना की पॉलिसी के लिए आपका नियोक्ता आपके वेतन से प्रीमियम की रकम काटता है और सभी कर्मचारियों की पॉलिसियों के लिए प्रीमियम का एक समेकित चेक बनाकर संबद्ध एल.आई.सी. शाखा को भेजता है जहां सभी पॉलिसियों का लेखा जोखा रखा रहता है।
  2.  आपकी पॉलिसी का लेखा जोखा कौनसी शाखा में है यह या तो आप अभिकर्त्ता से जान सकते हैं या फिर अपने वेतन विभाग से।
  3.  कौन सी शाखा आपकी पॉलिसी देखती है यह जानना आपके लिए इसलिए भी जरूरी है क्योंकि विघमानता हितलाभ, परिपक्वता हितलाभ के लिए या फिर पते में परिवर्तन की सूचना देने अथवा ऋण लेने की जरूरत प ड़ने पर शाखा आपकी सहायता कर सकती है।
  4. यदि आपका स्थनांतरण होता रहता है तो नयी नियुक्ति के स्थान की जानकारी संबद्ध शाखा को अवश्य दें। जब अपकी नियुक्ति नए स्थान पर होती है तो आप अपने नियोक्ता से पता लगाएँ कि प्रीमियम किस शाखा में जमा किया जा रहा है ताकि आपकी पॉलिसी को संचालित करने वाली शाखा आपकी पॉलिसी के अभिलेखों को यहाँ स्थानान्तरित कर दे।
  5.  इस तरह आपके दस्तावेज सही जगह रहेंगे और परिपक्वता दावे आदि सेवाएं आपको समय पर मिल सकेंगी। यदि आप नौकरी छो ड़कर दूसरी कंपनी में जा रहे हैं तो आपको नई कंपनी में पॉलिसी वेतन बचत योजना के अंतर्गत ही पॉलिसी जारी रखने अथवा प्रीमियम भुगतान के तरीके को तिमाही, छमाही या वार्षिक करने की सुविधा है।
  6. पॉलिसी को बार बार पुनःप्रवर्तित कराने की परेशानी से बचने के लिए सुनिश्चित करें कि प्रीमियम का भुगतान समय पर हो रहा है जो कि स्थानांतरण वाली नौकरी में ब ड़ा मुश्किल होता है।
  7. कृपया अपना प्रीमियम सीधे हमारे पास न भेजें। वेतन बचत योजना पॉलिसी के अंतर्गत आपका प्रीमियम आपके नियोक्ता के माध्यम से ही आना चाहिए क्योंकि हमारे पास पॉलिसीधारक से एक मासिक किश्त समायोजित करने की व्यवस्था नहीं है। अन्यथा आप चाहें तो प्रीमियम भुगतान का तरीका बदलकर तिमाही, छमाही या वार्षिक करें और सीधे भुगतान करें। इस तरह से आपको प्रीमियम अदायगी पर रियायत भी मिल सकती है।
  8. कृपया अपना स्थानीय स्थायी पता हमारे पास दें ताकि कई वर्षों बाद भी हम आप तक पहुंच सकें।

स्पष्टोक्ति (डिस्क्लेमर)

यह समस्त जानकारियां केवल आपके मार्गदर्शन के लिए दी गई हैं और किसी पक्ष को बाध्य करने के उद्देश्य से नहीं हैं। आपकी पॉलिसी के अनुबंद की शर्तें आपके प्रस्ताव और आपको दिये गये पॉलिसी दस्तावेज के नियम शर्तों अनुसारहोंगी। यह शर्तें निगम द्वारा समय समय पर जारी नियम विनियमों के अनुसार होंगी जिनमें संशोधन/परिवर्तन हो सकता है। अनुबंध देश के मौजूदा .कानूनों पर भी निर्भर करेगा।

सहायताः

अपनी पॉलिसी का श्रेष्टतम लाभ आपको मिले इसके लिए दिशानिर्देश ध्यान से पढ़ें ?

  1. अपना पॉलिसी बांड सुरक्षित रखें। परिपक्वता या विघमानता हितलाभ के समय इसकी आवश्यकता होगी। इसकी आवश्यकता तब भी होगी जब आपको पॉलिसी पर ऋण की आवश्यकता होगी या आप अपनी पॉलिसी का समनुदेशन करना चाहेंगे।
  2. पॉलिसी कहां रखी है इसकी सूचना अपने जीवनसाथी/ अभिभावकों/ बों को अवश्य दें।
  3. जब आप अपना पता बदलते हैं, कृपया नये पते की सूचना हमें अवश्य दें। अन्यथा हमारे द्वारा भेजे पत्राचार तथा प्रीमियम नोटिस, भुनाये जा सकने वाले वाऊचर आदि आपको मिलने में देरी हो सकती है।
  4. सुनिश्चित करें कि आपके पॉलिसी बांड में आपके नामित व्यक्ति का नाम सही तरह से दर्शाया गया है।
  5. याद रखें कि आपको अपने प्रीमियम का भुगतान समय पर करना है, भले हमारे नोटिस आप तक नहीं पहुंचें। डाक में देरी हो सकती है। प्रीमियम जिन महीनों में भरा जाना है, उसकी सूचना पॉलिसी बांड में दी गई होती है।
  6. आप अपने प्रीमियम का भुगतान चेक, डीडी या मनी आर्डर से कर सकते हैं लेकिन हर बार अपने पत्राचार में अपना पॉलिसी नंबर अवश्य लिखें। आपकी पॉलिसी संख्या नौ अंकीय होती है और आपके पॉलिसी बांड के शीर्ष पर दाहिने कोने पर अंकित होती है।
  7. अपने पॉलिसी बांड की जांच करें और देखें कि जन्म की तिथि सही दी गई है।
  8. यदि आप अपना पॉलिसी बांड किसी व्यक्ति या कार्यालय को, एल.आई.सी. सहित, दे रहे हैं तो कृपया लिखित अभिस्वीकृति ले लें।
  9. जब आपके विघमानता हितलाभ (धनवापसी पॉलिसियों के संदर्भ में) या परिपक्वता हितलाभ का समय आता है तो हम इसकी सूचना तीन महीने पहले भेजते हैं। यदि ऐसी सूचना आपको तय तिथि से एक महीना पहले तक नहीं मिलती है तो कृपया हमें बतायें ताकि हम आवश्यक कार्रवाई कर सकें।
  10. कोई संदेह हो तो अपने अभिकर्त्ता या उस शाखा से संपर्क करें जहां से आपने पॉलिसी आपने ली है।
  11. हमारी शाखाएं हमारी कार्य इकाईयां हैं। इसलिए, किसी भी सेवा के संबंध में, अपनी पॉलिसी की सेवा शाखा से संपर्क करें। सामान्य जानकारी के लिए, आप एल.आई.सी. की किसी भी शाखा में संपर्क कर सकते हैं।
Top