Javascript is not currently enabled in your browser.
You must enable Javascript to run this web page correctly.

मुख पृष्ठ » उत्पाद » वापस ली गयी योजनाएं » बीमा खाता I
बीमा खाता I

विशेषताएँ

जैसा कि नाम से स्पष्ट है “LIC की बीमा खाता – I” एक आसान गैर-लिंक की गई योजना है, जिसके अंतर्गत आप कुछ शर्तों के साथ कोई चिकित्सकीय परीक्षण कराए बिना ही सुरक्षा ले सकते हैं.

यह योजना आपको वह सब कुछ प्रदान करती है, जिसकी आपको किसी बीमा योजना से अपेक्षा है:

i). सरलता

ii). तरलता

iii). गारंटीकृत न्यूनतम प्रतिफल

iv). कोई चिकित्सकीय परीक्षण नहीं

v). पारदर्शी प्रभार

vi). जोखिम सुरक्षा

इस योजना के अंतर्गत, आपके द्वारा भुगतान किया गया प्रीमियम, प्रभार काटने के बाद प्रत्येक पॉलिसीधारक के लिए पृथक रूप से बनाए रखे गए पॉलिसीधारक के खाते में जमा किया जाएगा. जोखिम सुरक्षा पॉलिसीधारक के खाते से मर्त्यता प्रभार घटाकर दी जाएगी.

यदि सभी देय प्रीमियम का भुगतान कर दिया गया है, तो पॉलिसीधारक के खाते में मौजूद राशि 6% प्रतिवर्ष की वार्षिक ब्याज दर अर्जित करेगी जो संपूर्ण पॉलिसी अवधि के लिए गारंटीकृत होगी. इस गारंटीकृत प्रतिफल के अतिरिक्त, यदि सभी देय प्रीमियम का भुगतान कर दिया गया हो, तो आपका खाता इस योजना के अंतर्गत अनुभव पर निर्भर करते हुए एक अतिरिक्त राशि भी अर्जित कर सकता है.

आपके पास जोखिम सुरक्षा बढ़ाए बिना अतिरिक्त (टॉप-अप) प्रीमियम भुगतान करने का विकल्प भी होगा.

ऋण सुविधा भी पॉलिसी की पहली वर्षगाँठ के तत्काल बाद उपलब्ध होगी.

1. प्रीमियम का भुगतान:

आप पॉलिसी अवधि पूरी होने तक प्रीमियम का नियमित भुगतान वार्षिक, अर्धवार्षिक, त्रैमासिक या मासिक (केवल ईसीएस विधि द्वारा) अंतरालों पर कर सकते हैं.

पॉलिसीधारक के खाते में दो भाग शामिल होंगे:

i). पॉलिसीधारक का नियमित प्रीमियम खाता- जिसमें नियमित प्रीमियम प्रभार काट कर जमा किए जाएँगे.

ii). पॉलिसीधारक का टॉप-अप प्रीमियम खाता- जिसमें टॉप-अप प्रीमियम प्रभार काट कर जमा किए जाएँगे.

2. पात्रता की शर्तें और अन्य प्रतिबंध:
 
  (वर्ष में)
a) न्यूनतम प्रवेश आयु 11 (पूर्ण)
b) अधिकतम प्रवेश आयु 50 (निकटतम जन्मदिन)
c) पॉलिसी अवधि 5 से 7
d) न्यूनतम परिपक्वता आयु 18 (पूर्ण)
e) अधिकतम परिपक्वता आयु 57 (निकटतम जन्मदिन)

f) न्यूनतम प्रीमियम:नियमित प्रीमियम :
 
विधि प्रीमियम की किस्त
वार्षिक  7,000
अर्ध-वार्षिक  4,000
त्रैमासिक  2,000
मासिक (ईसीएस)  600
टॉप-अप प्रीमियम:  1000

g) अधिकतम प्रीमियम:नियमित प्रीमियम :
 
विधि प्रीमियम की किस्त
वार्षिक:  14,000
अर्ध-वार्षिक:  7,000
त्रैमासिक:  3,500
मासिक (ईसीएस) :  1100

टॉप-अप प्रीमियम: टॉप-अप भुगतान की तिथि तक भुगतान किए गए नियमित प्रीमियम का कुल योग वार्षिकीकृत प्रीमियम ईसीएस मासिक को छोड़कर सभी विधियों के लिए  1000 के गुणक में देय होंगी. मासिक (ईसीएस) के लिए प्रीमियम  100/- के गुणकों में होगी.
 
h) न्यूनतम बीमा राशि: वार्षिकीकृत प्रीमियम का 10 गुना.
i) अधिकतम बीमा राशि: 35 वर्ष की आयु तक वार्षिकीकृत प्रीमियम का 20 गुना
36 वर्ष से 45 वर्ष तक की आयु के बीच वार्षिकीकृत प्रीमियम का 14 गुना
46 वर्ष से 50 वर्ष तक की आयु के बीच वार्षिकीकृत प्रीमियम का 10 गुना

अधिकतम बीमा राशि बीमित किए जाने वाले जीवन के लिए लागू अधिकतम गैर-चिकित्सकीय सीमा की शर्त के अनुसार होगी.
 

 

3. योजना के अंतर्गत प्रभार:

अ) व्यय प्रभार: यह प्रीमियम का वह प्रतिशत है, जो प्राप्त प्रीमियम से प्रभारों के लिए विनियोजित किया जाता है. प्रीमियम का शेष भाग पॉलिसीधारक के नियमित प्रीमियम खाते या पॉलिसीधारक के टॉप-अप प्रीमियम खाते में, जो भी लागू हो, जमा किया जाएगा.

व्यय प्रभार नीचे लिखे अनुसार हैं:

नियमित प्रीमियम :

व्यय प्रभार (कमीशन सहित)
पहला वर्ष दूसरा और तीसरा वर्ष उसके पश्चात
27.5% 7.5% 5%
टॉप अप प्रीमियम के लिए व्यय प्रभार: 2.5%

ब):अन्य प्रभार

 

i) मर्त्यता प्रभार: -यह जीवन बीमा उपलब्ध कराने की लागत है, जो कि आयु-विशिष्ट होती है और पॉलिसीधारक के नियमित प्रीमियम खाते से समुचित रूप से हर महीने ली जाएगी. यह प्रभार बीमा राशि पर निर्भर करेगा. 

स्वस्थ व्यक्ति के संबंध में कुछ आयु के लिए प्रति रु. 1000/- जीवन बीमा राशि के लिए प्रभार नीचे लिखे अनुसार है:
 

आयु 20 30 40 50
रु. 1.25 1.46 2.57 6.56


ii) सेवा कर प्रभार – सेवा कर प्रभार, यदि कोई हो, तो वह मासिक आधार पर पॉलिसीधारक के नियमित प्रीमियम खाते से मर्त्यता प्रभार पर उस समय घटाया जाएगा जबकि संगत मर्त्यता प्रभार घटाए जाते हैं. 
इस प्रभार का स्तर समय-समय पर लागू सेवा कर की दर के अनुसार होगा. वर्तमान में, सेवा कर की दर 10% है. तथा उस पर 3% की दर से शिक्षा उपकर देय है. इस प्रकार प्रभावी दर 10.30% है.

iii) परिवर्तन प्रभार- यह प्रभार अनुबंध के अंतर्गत किसी परिवर्तन के लिए लगाया जाता है, जैसे उच्च आवृत्ति की भुगतान विधि में परिवर्तन और बीमा राशि में कमी और यह  50 की समान राशि का होगा, जो पॉलिसीधारक के खाते से घटाया जाएगा और यह कटौती पॉलिसी में किए गए परिवर्तन की तिथि को की जाएगी.

4. अन्य विशेषताएँ:

i)टॉप-अप प्रीमियम: आप  1000/- के गुणक में टॉप-अप प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं. अतिरिक्त भुगतान किए गए प्रीमियम पॉलिसीधारक के टॉप-अप प्रीमियम खाते में व्यय प्रभार काट कर जमा किए जाएँगे. हालाँकि, पॉलिसी के अंतर्गत बीमा राशि में कोई वृद्धि नही की जाएगी. किसी भी समय टॉप-अप प्रीमियम का योग उस समय तक भुगतान की गई नियमित प्रीमियम के कुल योग से अधिक नहीं होगा. ऐसी अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान केवल तभी किया जाएगा यदि पॉलिसी के अंतर्गत सभी देय प्रीमियम का भुगतान कर दिया गया हो.

ii) लाभों में कमी: - योजना आपको अनुबंध की अवधि में कुछ न्यूनतम सीमा की शर्तों के अनुसार बीमा राशि में कमी करने की सुविधा देती है. जब बीमाधन में कमी की जाती है, तो ऐसा परिवर्तन अनुरोध की तिथि के साथ या उसके बाद पड़ने वाली पॉलिसी की वर्षगाँठ से प्रभावी होगा.

5. अनुग्रह अवधि:-

प्रीमियम के भुगतान के लिए एक-माह की लेकिन जो 30 दिन से कम न हो, ऐसी अनुग्रह अवधि की अनुमति होगी.

6. पुनर्चलन:

यदि अनुग्रह अवधि के अंतर्गत देय प्रीमियम का भुगतान नहीं किया जाता है, तो पॉलिसी पेड-अप हो जाती है. पेड-अप पॉलिसी का पुनर्चलन प्रथम जमा न किए गए प्रीमियम की तिथि से 12 माह की अवधि के अंतर्गत या परिपक्वता के पूर्व, जो भी पहले हो, किया जा सकता है. इस पुनर्चलन अवधि के दौरान जीवन बीमा समाप्त हो जाएगा और कोई मर्त्यता प्रभार नहीं काटा जाएगा.

पुनर्चलन निगम की संतुष्टि के अनुरूप सतत बीमित बने रहने की योग्यता का प्रमाण और ब्याज के बिना सभी बकाया प्रीमियम प्रस्तुत करने पर किया जाएगा.

निगम ने स्वयं अपनी शर्तों पर किसी पेड-अप पॉलिसी के पुनर्चलन को स्वीकार करने या पुनर्चलन से इनकार करने का अधिकार सुरक्षित रखा है. किसी पेड-अप पॉलिसी का पुनर्चलन केवल इसके निगम द्वारा स्वीकृत किए जाने के बाद ही प्रभावी होगा और इसकी लिखित सूचना पॉलिसीधारक को विशेष रूप से दी जाती है.

यदि पॉलिसी कम-से-कम 2 वर्ष के प्रीमियम का भुगतान किए बिना पेड-अप हो जाती है और पुनर्चलन अवधि के दौरान इसका पुनर्चलन नहीं किया जाता है, तो पुनर्चलन अवधि की समाप्ति पर पॉलिसी अनिवार्य रूप से समाप्त कर दी जाएगी. अनिवार्य समाप्ति की तिथि से कोई प्रभार नहीं काटा जाएगा और कोई ब्याज जमा नहीं किया जाएगा. पॉलिसीधारक के खाते में जमा राशि का पुनर्भुगतान पॉलिसी की तृतीय वर्षगाँठ पूर्ण होने पर किया जाएगा.

यदि पॉलिसी 2 वर्ष के पूर्ण प्रीमियम का भुगतान करने के बाद पेड-अप हो जाती है और पुनर्चलन अवधि के दौरान इसका पुनर्चलन नहीं किया जाता है, तो पॉलिसी जारी रहेगी

एक बार अभ्यर्पित पॉलिसी को पुनः स्थापित नहीं किया जा सकेगा.

7. कूलिंग ऑफ़ अवधि:– न

यदि आप पॉलिसी के “नियम और शर्तों” से संतुष्ट न हों, तो आप 15 दिन के भीतर पॉलिसी हमें लौटा सकते हैं.

Top